Eid Ul Adha Ki Namaz Ka Tarika In Hindi (2021)


ईद उल अजहा की नमाज़

Eid Ul Adha, Ki Namaz Ka Tarika In Hindi, Bakrid ki namaz ka tarika, Bakrid ki niyat, ईद उल अजहा की नमाज़ का तरीका हिंदी में,

(Eid ul adha) इस्लाम के मुताबिक बहुत अक़ीदे का पर्व है जिसे हम बकरीद भी बोलते है ईद उल अजहा ईद उल फ़ित्र के तक़रीबन 70 दिनों के बाद मनाया जाता है eid ul adha में जानवरो की कुर्बानी भी दी जाती है|

इस्लाम में एक साल में दो ईद मनाई जाती है पहला ईद उल फ़ित्र और दूसरा ईद उल अजहा (eid ul adha) इन दोनों पर्व में कुछ ज्यादा फर्क नहीं है ईद में हम मीठी चीज खाते है जैसे सेवई लच्छा इसी लिए ईद को बहुत से लोग  मीठी ईद भी कहते है|

  • बकरीद में जानवरों की कुर्बानी क्यू करते है
  • क़ुरबानी की दुआ और तरीका

और दूसरा जिसे ईद उल अजहा Eid ul adha और बकरीद भी कहा जाता है जो ईद के तक़रीबन 70 दिनों के बाद मनाई जाती है बकरीद यानी ईद उल अजहा eid ul adha में मुसलमान अपने हैसियत के मुताबिक बकरा या दुम्बा की कुर्बानी करवाते है|

ईद उल अजहा (Eid ul adha) की नमाज़ का मुकम्मल तरीका

(बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहमा)

सबसे पहले नमाज़ की नियत करें

नियत करता हूँ मैं 2 रकाअत वाजिब ईद अल अज़हा ज़ाईद 6 तक्बीरों के साथ मुँह मेरी काबा शरीफ के तरफ वास्ते अल्लाह तआला के पीछे इस इमाम के अल्लाह हु अकबर 

फिर सना पढ़े इस तरह

सुब्हानका अल्लहुमा वबी हमदिका
व तबारक कसमुका व तआला जददुका
वा ला इलाहा गैरूक

अब तीन ज़ाईद तकबीर होंगी

  1. पहली तकबीर में अल्लाह हुअक्बर कह कर अपने दोनों हांथों को कानो के लॉ तक ले जाएँ फिर छोड़ दें |

2. इसी तरह दूसरी तकबीर में भी अल्लाहु अकबर कह कर अपने दोनों हांथों को अपने कानो के लॉ तक ले जा कर  छोड़ दें |

3. अब तीसरी तकबीर में अल्लाहु अकबर कह कर अपने दोनों हांथो को अपने कानो के लॉ तक ले जा कर हांथों को बाँध लें |

इसके बाद इमाम शाहब किरत करेंगे जिसे आप गौर से ध्यान लगा कर सुने | इसके बाद आप रुकू और सजदा करेंगे |

इस तरह आपकी पहली रकाअत मुकम्मल हो गयी है |

  • जनाज़े की नमाज़ का तरीका हिंदी

अब फिर से दूसरी रकाअत के लिए खड़े हो जाएँ अब इमाम शाहब किरत करेंगे और रुकू में जाने से पहले तीन ज़ाईद तकबीरें होंगी पहली रकाअत की तरह

  1. पहली तकबीर में अल्लाह हुअक्बर कह कर अपने दोनों हांथों को कानो के लॉ तक ले जाएँ फिर छोड़ दें |

2. इसी तरह दूसरी तकबीर में भी अल्लाहु अकबर कह कर अपने दोनों हांथों को अपने कानो के लॉ तक ले जा कर  छोड़ दें |

3. इसी तरह तीसरी तकबीर में भी अल्लाहु अकबर कह कर अपने हांथों को कानो के लॉ तक ले जा कर छोड़ दें | 

अब आपकी ज़ाईद तकबीरें मुकम्मल हो गयी है अब इसके बाद बगैर हाँथ उठाये अल्लाहु अकबर कह कर रुकू में चले जाएँ |

फिर इसके बाद हस्बे मामूल सजदे तसाहुद पढ़ कर सलाम फेरेंगे अब आपकी दोनों रकाअत नमाज़ मुकम्मल हो चुकी है |

Eid Ul Fitr 2020 – Namaz Ka Tarika In Hindi

अगर आप में से कोई सरकारी जॉब की तैयारी कर रहे है तो हमारे द्वारा दी गयी लिंक पर क्लिक करें technofeariya.in और अपने तैयारी को और भी बेहतर बनायें|

निचे दिए गए लिंक को भी जरूर पढ़ें |

ये इस्लामिक इनफार्मेशन आप हमें comment करके जरूर बताएं और इसे शेयर करना बिल्कुल न भूलें अल्लाह हर मुसलमान की जान ओ माल की हिफाजत फरमा |


Leave a Reply

Your email address will not be published.