Pani Pine Ki Sunnatein Aur Adaab In Hindi | पानी पिने की सुन्नतें और आदाब


Pani Pine Ki Sunnatein Aur Adaab In Hindi पानी पिने की सुन्नते और आदाब हिंदी में Hindi Pani Pine Ki Sunnaten Aur Adaab : अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु प्यारे नाजरीन इस्लाम में हर काम को करने का एक तरीका ब्यान किया गया है उसी तरह पानी पिने का ही इस्लामिक तरीका है तो आज हम िनी बातो पर चर्चा करेंगे पानी पिने की सुन्नत और आदाब हर मोमिन को अपने प्यारे नबी के सुन्नतों पर चलना चाहिए और उसे अपनाना भी चाहिए | आप में से किसी भाई बहन को PDF All Current Affairs Study Materials Etc की जरुरत हो तो आप Sarkarijobseva.com पर Click करें हमने यहाँ उसका link लगा दिए है |

Pani Pine Ki Sunnatein Aur Adaab

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम

हजराते गरामी पानी अलल्लाह तआला की बहुत ही बड़ी और निहायत ही अहम् नेअमत है पानी के बगैर हमारा जिन्दा रहना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है हर परिदा चरिन्दा पानी पिता है जानवर व इंसान सभी पानी पिटे है हर मुस्लमान और काफिर भी पानी पिता है और हर एक का पानी पिने का जुदा जुदा तरीका है अंदाज़ है खुसूशन मुसलमान का पानी पीना सबसे मुमताज होना चाहिए मुसलमान की हर अदा हमारे प्यारे नबी की सुन्नत के मुताबिक होना चाहिए लिहाजा हर मोमिन सुन्नत के ही मुताबिक पानी पिए तो हमारा पानी पीना भी सवाब का बाइस हो जायगा और बल्कि ठंढा पानी सुन्नत के नियत से पिएंगे तो इन्शाह अल्लाह ज्यादा सवाब मिलेगा |

पानी कभी भी दाहिने हाथों से पियें

पानी कभी भी बैठ कर पियें और पानी पिने से पाहे बिस्मिल्लाह जरूर कहें

ठंढा पानी पीना सुन्नत है|

हजरते आइशा सिद्दीकी राजी0 से रिवायत है की हुजूर ताजदारे मदीना साकी ए कौसर को तमाम पानियों में मीठा और ठंढा पानी ज्यादा पसंद था तिर्मिज़ी |

पानी तीन साँस में पीना सुन्नत है|

पानी तीन साँस में पीना सुन्नत है हजरते अनस रजिo से मरवी है की हुजूर ताजदारे दो आलम (S.A.W) पानी पिने के दौरान तीन मर्तबा साँस लेते थे यानी पानी पिने के बर्तन के बाहर साँस लेते थे तीसरे साँस लेने के बाद अपने पानी को पूरा पि जाते थे एक ही साँस में पानी पीना मना है चाहे आप कितने भी पियासे क्यू न हों |

एक ही साँस में पानी पीना ऊंट का तरीका है|

हजरते इब्ने अब्बास रजिo फरमाते है हुजूर नबीये करीम SAW ने फ़रमाया ऊंट के तरह एक ही मर्तबा में पानी कभी भी न पियें बल्कि तीन साँसों में पिया करो इससे आपका सुनत भी हो जायगा और आपके सवाब में भी इजाफा हो गा और जभी आप पानी को पिए उससे पहले बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम जरूर पढ़ें और हमेशा पानी बैठ कर ही पियें |

Must Read:-

इस इस्लामिक Information को शेयर करना न भूलें अल्लाह हाफ़िज़


Leave a Reply

Your email address will not be published.