Bismillahirrahmanirrahim | बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम इन हिंदी


Bismillahirrahmanirrahim बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़ने के फायदे बिस्मिल्लाह की अहमियत व फ़ज़ीलत BismillahirrahmaNirrahim In Hindi : अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु मेरे प्यारे मुस्लिम भाइयों और बहनों बिस्मिल्लाह की फ़ज़ीलत के बारे में जानेगे इतना तो लग भाग हर मोमिन जानते होंगे की इस्लाम में हर जायज़ काम को करने इ पहले बिस्मिलाह पढ़ना चाहिए तो चलिए जानते है बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम के बारें में | इसके अलावा आप यहाँ से सरकारी जॉब से सम्बंधित जानकारी भी प्राप्त कर सकते है उसके लिए आप Sarkarijobseva.com पर click करें |

Bismillahirrahmanirrahim

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम एक ऐसा लफ्ज़ है जो लग भाग हर मुसलमान जानता है बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम मुसलमान हर नेक काम करने से पहले पढ़ते है वो इस लिए की हमें कोई भी नेक काम करने से पहले अपने रब का नाम लेना चाहिए ताकि हमारा हर काम आसान हो जाए और वो हर काम अच्छे से मुकम्मल हो जाए |

दोस्तों क्या आप जानते है बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम एक आयत है जो क़ुरआन शरीफ का सबसे पहला आयत है ये आयत अल्लाह तआला को इतना पसंद है की अल्लाह तआला ने इस आयत को क़ुरआन शरीफ में 114 बार रखा है इसी लिए हर नेक काम करने से पहले बिस्मिल्लाह जरूर पढ़ लें ताकि आपके के काम से अल्लाह तआला राज़ी हो जाए |

Bismillahirrahmanirrahim की अहमियत ये है की जब जनाबे यूसुफ़ को बाजारे मिस्र में बेचने के लिए ले जाया या की उन्हें बेच कर उनसे गुलामी करवा जाए एक सख्स ने उन्हें खरीद लिया कुछ कीमत दे कर उस शख्स ने दुबारा ऐलान कर दिया की कायनात का जो सबसे प्यारा बच्चा है जनाब यूसुफ़ उन्हें दुबारा फ्रॉग किया जाएगा यानि दुबारा बोली लगे गा कीमत लगे गा ।

ये ऐलान सुनकर बहुत दूर दूर के राजा महाराजा वहां मिस्र में उन्हें फ्रॉग करने के लिए आये उन्ही राजा महाराजा के बिच वहां एक जईफ बुढ़िया भी आयी जिनके हांथो में कोई सोना चांदी या कोई धन दौलत नहीं था जनाबे यूसुफ़ का कीमत लगाया गया एक तराजू के पलड़े में जनाबे यूसुफ़ को रखा गया दूसरे तराजू के पलड़े में सोना चांदी फिर भी पलड़ा बराबर नहीं हुवा तभी वहां खड़ी जईफ बुढ़िया उन का एक गोला जिस पर उसने बिस्मिल्लाह पढ़ कर तराजू के पलड़े में रख दिए और पलड़ा बराबर हो गया |

Bismillah Hirrahma Nirrahim

आईमु अ. स. ने फ़रमाया की बिस्मिल्लाह की अहमियत को समझो हर काम से पहले बिमिललाह जरूर पढ़ो घर से बाहर निकलो तो बिमिललाह जरूर पढ़ो खाना खाने लगे तो बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम पढ़ें घर में दुबारा दाखिल हो तो पढ़ें बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम किताब पढ़ें तो पढ़ें बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम

मतलब ये की तमाम जायज़ कामो को करने से पहले अल्लाह के नाम लें यानी के बिस्मिल्लाह पढ़ें इन्शाह अल्लाह आपका हर काम मुकम्मल होगा मासु फरमाते है इतनी आदत बना लो की हर काम करने से पहले अपने आप जबान से निकले बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम आपकी आदत शानि हो जाए

Bismillah Ki Ahmiyat

हजरते ग्रामी इसकी इतनी आदत बना ले की अपने आप हर काम करने से पहले आपके जबान से बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम निकल आये और अपने बच्चो को भी इसकी आदत डालें यहाँ तक मासूम फरमाते है की इतनी आदत बना लें की गुनाह करने से पहले भी आप बिस्मिल्लाह पढ़ने लगे और आपको एहसास हो की मई गुनाह भी अल्लाह के नाम से करने जा रहा हूँ और आप उन गुनाहो से तौबा कर लें |

Must Read:-

1. Safar Ki Dua in Hindi & Urdu तर्जुमा के साथ |…

2. Fateha Karne ka tarika in Hindi | फातेहा करने का तरीका…

3. Ayatul Kursi In Hindi | आयतल कुर्सी हिंदी में …

4. Namaz ka Tarika – Namaz ka Tarika हिंदी में

5. Ghusl ka tarika in Hindi | ग़ुस्ल करने का इस्लामिक तरीका…

6. Ghusl ka tarika in Hindi | ग़ुस्ल करने का इस्लामिक तरीका…

7. Aurton Ki Namaz Padhne Ka Sahi Tareeqa In Hindi

8. Azan Ki Ahmiyat Wa Fazilat In Hindi

9. Ramzan Ki Barkat Wa Fazilat | रमजान की बरकत व फ़ज़ीलत हिंदी में

10. Wazu ka Tarika | Wazu Ka Tarika in Hindi / …

नॉट अगर आपको ये इस्लामिक इनफार्मेशन अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों रिश्ते दारों को शेयर करना बिलकुल भी ना भूलें अल्लाह तआला हर मोमिन की हिफाजत फ़रमा


Leave a Reply

Your email address will not be published.