Ayatul Kursi In Hindi | तर्जुमा के साथ आयतल कुर्सी हिंदी में –


 Ayatul Kursi In Hindi | तर्जुमा के साथ आयतल कुर्सी हिंदी में : अस्सलामु अलैकुम आज हम सभी मुसलमान भाइयों और बहनो के लिए Ayatul kursi लेकर आएं है जो की हर मुसलमान को पढ़ना और हमेशा याद रखना बहुत जरुरी है किया आपलोग भी हिंदी में आयतुल कुर्सी को पढ़ना चाहते है इसके अलावा आप यहाँ से Namaz ka Tarika In Hindi भी सिख सकते है|

किया आपलोग आयतुल कुर्सी गूगल पर सर्च करते है और आपको नहीं मिलता तो फॉर आज आपकी आयतुल कुर्सी की तलाश ख़त्म हुवा क्यू की हम आज सिर्फ और सिर्फ आपके लिए ही यह पोस्ट ले कर आएं है | आपलोगों को आयतुल कुर्सी की अहमियत के बारे में तो पता ही होगा हमें उम्मीद है की आयतुल कुर्सी की अहमियत के बारे में हर मुसलमान बाखूबी जानते होंगे|

Ayatul Kursi हिंदी में 

आयतुल कुर्शी को एक क़ुरआन शरीफ का चोथाई भी कहा जाता है जो भी इंसान हर रोज फजर के नमाज़ के बाद आयतुल कुर्सी को पढता है उस इंसान के लिए जन्नत के दरवाजे हमेसा के लिए खोल दिए जाते है|

एक हदीसे पाक में कहा गया है की जो इंसान हर रोज फजर के नमाज़ के बाद Ayatul Kursi पढता है तो उस इंसान को जन्नत में जाने से कोई भी चीज नहीं रोक पाएगा आयतुल कुर्सी सबसे ज्यादा अजमत वाली आयतों में से एक आयत है जो हर मुसलमान को याद होना चाहिए|

आप तमाम लोगो के जानकारी के लिए हम आपको बता दे की किसी भी दुआ या आयत को अरबी में पढ़ना अफजल माना माना जाता है|

हमने आपके बेहतर के लिए आयतुल कुर्सी का एक इमेज भी लगा दिया है जिससे आपको अच्छे से असमझ में आजाये

للَّـهُ لَا إِلَـٰهَ إِلَّا هُوَ الْحَيُّ الْقَيُّومُ ۚ لَا تَأْخُذُهُ سِنَةٌ وَلَا نَوْمٌ ۚ لَّهُ مَا فِي السَّمَاوَاتِ وَمَا فِي الْأَرْضِ ۗ مَن ذَا الَّذِي يَشْفَعُ عِندَهُ إِلَّا بِإِذْنِهِ ۚ يَعْلَمُ مَا بَيْنَ أَيْدِيهِمْ وَمَا خَلْفَهُمْ ۖوَلَا يُحِيطُونَ بِشَيْءٍ مِّنْ عِلْمِهِ إِلَّا بِمَا شَاءَ ۚ وَسِعَ كُرْسِيُّهُ السَّمَاوَاتِ وَالْأَرْضَ ۖ وَلَا يَئُودُهُ حِفْظُهُمَا ۚ وَهُوَ الْعَلِيُّ الْعَظِيمُ﴿٢٥٥﴾ لَا إِكْرَاهَ فِي الدِّينِ ۖ قَد تَّبَيَّنَ الرُّشْدُ مِنَ الْغَيِّ ۚ فَمَن يَكْفُرْ بِالطَّاغُوتِ وَيُؤْمِن بِاللَّـهِ فَقَدِ اسْتَمْسَكَ بِالْعُرْوَةِ الْوُثْقَىٰ لَا انفِصَامَ لَهَا ۗ وَاللَّـهُ سَمِيعٌ عَلِيمٌ

अल्लाहो ला इलाहा इल्ला होवा, अल -हय्युल क़य्यूमो, ला’ता ख़ु-ज़ोहू सेनातुन  वाला  नौमुन,लहू मा फ़ीस समावाते व मा फिल अर्ज़े, मन ज़ल लज़ी यश-फ-ओ’ इ’न्दहू इल्ला बे-इज़्नेही, या’लमो मा बैना अय्दीहीम व मा ख़ल’फ़हुम, व ला  योहीतूना  बे शै’यिम  मिन  इ’ल्मेही  इल्ला बेमा  शा-अ, वसे-अ’ कुर्सिय्यो’हुस समावाते वल अर्ज़, व ला या-ऊदोहू हिफ़’ज़ोहोमा, व होवल अ’लिय्युल अ’ज़ीमो

आयतुल कुर्सी के तर्जुमा हिंदी भाषा में

आप लोगो की खुसी और आसानी के लिए हमने यहाँ पर हिंदी में आयतुल कुर्सी के साथ साथ अरबी में भी दे दिया है जिससे की आप मेसे किसी भी भाई बहन को हिंदी पढ़ने में दिक्कत आ रही हो तो आप अरबी में पढ़ सकें|

Ayatul Kursi ka tarjuma : अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक नहीं जिन्दा है जिसको मौत नहीं आ सकती,न उसको ऊंघ दबा सकता है और न नींद, उसी का है जो कुछ आसमान और जमीन में है, ऐसा कौन है जो उसके पास जा कर किसी की सिफारिस करे उसकी इज़ाज़त के बगैर, वो इंसान के आगे पीछे के तमाम हालात को जनता है, इंसान और तमाम मख्लूकात अल्लाह के मालूमात का इहाता नहीं कर सकते मगर जितना अल्लाह चाहे, उसकी कुर्सी इतनी लम्बी है की उसने सब आसमानो और जमीनों अंदर लिए हुवे है, और अल्लाह ताला को इन दोनों आसमानो और जमीन की हिफाज़त भारी नहीं लगती

Disclaimer

मेरे भाइयों और बहनो हमारे तरफ से दी गई Ayatul Kursi की मालूमात आपको कैसी लगी ये आप हमें जरूर बताएं ताकि हम आपके लिए और भी मालूमात या कोई सूरह लाते रहें अगर आज की हमारी यह Post आपलोगो को अच्छा लगा होतो इसे अपने भाई बहन या दोस्तों से Shere करना ना भूले अगर आपको हमसे किसी भी तरह की मालूमात जानकारी चाहिए हो तो आप हमें Comment Box के जरिये इस्लामी मालूमात पा सकते है| (खुदा हाफ़िज़)


Leave a Reply

Your email address will not be published.