Success Aur Kaamayabi Ki Dua In Hindi


Success Aur Kaamayabi Ki Dua In Hindi किसी भी काम में कामयाब होने की दुआ हिंदी में अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु दोस्तों अपने जिंदगी Life में कामयाब होना कौन नहीं चाहता है हर इंसान अपना life जिंदगी कामयाब Success बनाना चाहता है जिसमे बहुतो को कामयाबी मिल जाती है और बहतो को कामयाबी की तलास रहता है तो आज हम उन्ही लोगो के लिए ये दुआ है वैसे तो बिना मेहनत के कोई भी इंसान कामयाब नहीं हो सकता पर एक सच यह भी है की मेहनत के साथ दुआ भी जरुरी है आप सफर पर निकलने से पहले इस दुआ को जरूर पढ़ लें Safar Ki Dua in Hindi & Urdu तर्जुमा के साथ

Success Aur Kamyabi ki dua in hindi

दोस्तों अभी के समय में हर आदमी खुस रहना और कामयाब होना चाहता है और हर इंसान अपने घरो में खुशहाली चाहता तो चलिए हम आपको इसी बात को अच्छे से समझते है |

जब कोई इंसान अपने घर में दाखिल होता है तो उसे अपने घर में खैरो खैरियत चाहिए घर में खुशाली चाहिए होता है और जब घर से निकल रहा हो तो भी उसको आसानी और जिस काम के लिए जा रहा है उस काम के लिए आफियत चाहिए |

जब अपने आफिस में दाखिल हो रहा है तो भी उसको आफियत और राहत चाहिए वहां का माहौल उसके लिए अच्छा रहे और उसका काम है ठीक ठीक पूरा कर सके |

Success जब मदरसे में दाख़िल हो रहा है तो उसको ये चाहिए कि उसका एडमिशन (Admission) आसानी से हो जाये और उसकी पढाई आफियत के साथ पूरी हो जाये, बात समझ में आये और याद रहे |

जब अस्पताल (Hospital) में इलाज के लिए दाखिल हो रहा है तो वो ये चाहेगा कि उसको इलाज के लिए कोई अच्छा (Doctor) मिल जाये और उसके दिल में अल्लाह बारक़ व तआला सही दवा डाल दें जो मेरी बीमारी का इलाज कर सके और जब निकलूँ तो वहाँ से बिलकुल ठीक होकर निकलूँ |

Success तो आप अगर गौर करें तो हर एक इंसान आदमी अपनी ज़िन्दगी में कहीं न कभी न कभी कहीं दाख़िल हो रहा होता है और कहीं न कहीं से निकल रहा होता है और हर जगह उसको खैर और आफियत चाहिए तो इसके लिए अल्लाह बारक़ व तआला ने एक बहुत मुआस्सिर और जामे दुआ बयान की है कि जब भी किसी चीज़ में दाखिल या घुसे (In) हो रहे हों तो ये दुआ ज़रूर पढ़ें इंशा अल्लाह उस काम में आपको कामयाबी जरूर मिलेगी |

Success ki dua in hindi

दुआ हिंदी में : रब्बी अद खिल्नी मुद खला सिदकिव व अखरिज्नी मुखरजा सिदकिव वज अल ली मिल लदुनका सुल्तानन नसीरा

कामयाबी पाने की दुआ और तर्जुमा

Tarjuma : ए मेरे रब ! मुझे (जहाँ ले जाइए) सच्चाई के साथ ले जाइए और (जहाँ से भी निकालिए) सच्चाई के साथ निकालिए, और मुझे ऐसा गलबा अता फरमाइए जिस के साथ (आप की) मदद शामिल हो |

अगर आपको इसके बारे में और जानना हैं तो Deenibaatein.com Link पर Click करें


Leave a Reply

Your email address will not be published.