Home Surah Surah Naas in hindi translation | सूरह नास की फ़ज़ीलत

Surah Naas in hindi translation | सूरह नास की फ़ज़ीलत

0
520

surah naas

सूरह नास (Surah Naas ) की फ़ज़ीलत हिंदी में, सूरह नास पढ़ने के फायदे हिंदी में, surah nas, In Hindi मेरे प्यारे इस्लामी भाइयों और बहनों क़ुरान के इस सूरह surah naas के बारे में लग भग सभी मुसलमान जानते होंगे तो चलिए आज हम इसकी फ़ज़ीलत को जानते और समझते है|

खन्नास naas इब्लीस यानी सैतान को कहते है इसका मतलब छुपने का है जबभी कही भी अल्लाह का जिक्र होता है वो छुप जाता है और जब कभी भी उसे मौका मिलता है तो वस्वसा डालता है |

Surah Quraish taranslation | सूरह क़ुरैश तर्जुमा हिंदी 

सूरह नास हिंदी में (surah nas)

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहमा

कुल अऊजू बि रब्बिन नासि 

मलिकिन नासि इला हिन्नासि 

मिन श र्रि ल वस् वासिल खन्ना सि 

अल्लज़ी युवस विसु फी सुदु रिन्नासी 

मिनल जिन्नति वन्नास 

Surah Naas In english

Bismillah Hirrahman Nirrahim

Qul a’uzu birabbin naas

Malikin naas

Ilaahin naas

Min sharril was waasil khannaas

Al lazee yuwas wisu fee sudoorin naas

Minal jinnati wan naas

सूरह नास अरबी में (surah naas)

بِسمِ اللَّهِ الرَّحمٰنِ الرَّحيمِ

 قُل أَعوذُ بِرَبِّ النّاسِ مَلِكِ النّاسِ

إِلٰهِ النّاسِ مِن شَرِّ الوَسواسِ الخَنّاسِ

الَّذى يُوَسوِسُ فى صُدورِ النّاسِ

مِنَ الجِنَّةِ وَالنّاسِ

सूरह नास की तफ़्सीर हिंदी में

इस हदीसे पाक में 6 मर्तबा नास शब्द का आने के कारन इस का नाम सूरह नास है जिसका मतलब (अर्थ)  इंसान होता है

क़ुरआन मजीद की इस सूरह surah naas के 1 से 3 आयत में पनाह देने के कारणों को बताया गया है

आयत नंबर 4 में जिस की बुराई या पनाह मांगी गयी है उनके खौफ जद्दा दुसमन के बारे में बताया गया है और होसियार किया गया है

आयत नम्बर 5 में ब्यान किया गया है की वो कैसे इंसान के दिलो पर हमला करता है

आयत नम्बर 6 में आगाह किया गया है की ये दुसमन जिस्म और इंसान में भी होते है

सूरह नास की फ़ज़ीलत हिंदी में

सहीह बुखारी में फ़रमाया गया है की अर्थात हदीस में है की नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम हर रात जब बिस्तर पर जाते तो सूरह नास और सूरह इख्लास और इसके पहले सूरह पढ़कर अपनी दोनों हथेलिओ मिला कर उन पर फूंकते फिर जितना हो सके दोनों को अपने शरीर पर फेरते सिर से सुरु करते और फिर पुरे बदन पर हाँथ फेर लेते ऐसा आप तीन बार करते थें |

you also read:- qurbani ki dua in hindi | क़ुरबानी की दुआ हिंदी में

रसूल पाक सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया के जब कोई बन्दा मुश्किल वक्त पर अल्लाह का जिक्र कर लेता है तो ये सैतान पीछे हट जाता है और इसलिए गया है के वसुसे डालने वाला लेकिन कमजोर भी बहुत है बस इंसान इस के आगे डट जाएँ और अल्लाह की पनाह मांग लें

कोई भी मुस्लिम मोमिन को ये ख्याल न होना चाहिए के शैतान की ताकत बड़ी है इसका मुकाबला मुश्किल है इसी ख्याल को ख़तम करने के लिए हक़ ताअला ने फ़रमाया के जो शख्स सूरह नास सोते वक्त पढ़कर सोता है तो उस पर कभी सैतान परीशान नहीं करता है और कोई भी काम में मुश्किल नहीं होता

Khana khane ki dua | khana khane ke baad ki dua in hind

नाज़रीन अगर आपको ये Surah naas की इनफार्मेशन अच्छा लगा हो तो सदका ए जारिया की नियत से ज्यादा से ज्यादा शेयर करें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here