Dua e Mustajab in hindi दुआ ए मुस्तजाब हिंदी में

अस्सलामु अलैकुम दोस्तों आज आप सभी के लिए बहुत अच्छा पोस्ट है जिससे आप आपने सारे परिसानियो को दूर कर पाएंगे इस Dua e Mustajab को पढ़ कर आज हम इस पोस्ट में Dua e Mustajab or Dua e Mustajab ki fazilat 

Dua e Mustajab

जिसके पास यह दुआ Dua e Mustajab हो और वह बादशाह की मज्लिस या कचहरी में जायेगा तो बडी ईज्जत पायेगा ! घर में आयेगा तो सब लोगों में महबूब होगा! और सब उस को दोस्त रखेगे !

जब उस को दफन करेंगे तो कब्र के अजाब से बचा रहेगा ! उसकी कब्र कुशादा कर दी जायेगी ! इस दुआ  की बर्कत से सब बलाओ और आफ़तों से महफ़ूज़ सुरक्षित रहेगा !

उस की दीनी और दुनियावी मुश्किलात आसान होंगी ! इस पर किसी को शक न करना चाहिये  इसलिये कि कुफ़्र का डर है अल्लाह शक से बचाये  आमीन

खुलासा यह कि इस पाक (पवित्र) दुआ  की बहुत सारी खूबियाँ है, ऊपर केवल चन्द खूबियों को बयान किया गया है Dua यह हैं:

Best Wazifa know more for click here

Dua e Mustajab in hindi

Dua e Mustajab in hindi

सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु  ला इला-ह इला अन्-त रब्बुल् अऱशिल् अजीमि , सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्तर्रहमानुर्रहीमु ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्तल् मलिकुल् कुद्दुसु ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्तल् अजीजुल्जब्बारू ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तल् मुसव्विरूल् हकीमु ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तस्समी अुल् बसीरू ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तल् बसीरुस्सादिकु ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तल् हय्युल् क़य्यूमु ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तल् जब्बारुल् मुतकब्बिरु ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तल् मुब्दिउल् मुईद ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्-तल्लतीफुल् ख़बीरू ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन्तस्स-मदुल् माबूदू ,सुब्हा-न-क  अन्तल्लाहु ला इलाह इला अन-तल वाजिदुल् माजिदु 

Dua know more for click here 

Dua e Mustajab ki fazilat in hindi

इस बुजुर्ग-दुआ  Dua e Mustajab ki fazilat के असवाद यह है। जो कोई हर रोज़ इस दुआ  को पढे, और अगर रोज़ न पढ सके ! तो सप्ताह में एक बार पढे ! अगर सप्ताह में भी न पढ़ सके ! तो महीने में एक बार पढे ! अगर महीने में भी न पढ सकें, तो उम्र भर में एक दफा पढें ! और अगर खुद न पढ सके तों किसी से पढकर का सुन ले , अगर सुन भी न स के, तो इस शरीफ़ दुआ  अपने पास निगाह के सामने रखे तो अल्लाह तआला उस बन्दे के वास्ते दोज़ख के दरवाजे. बन्द कर देगा ! और उसके वास्ते जन्नत के दरवाजे खोल देगा ! जो बन्दा इस दुआ  को पढकर अल्लाह तआला से अपनी हाजत माँगेगा, अल्लाह उसको देगा ! और सात चीजों से महफ़ूज़  सुरक्षित रखेगा ।

  • (1) फ़ की री से
  • (2) दुनिया की तकलीफ से
  • (3) जान निकलने के समय की सख्ती से
  • (4 )  कब्र के अजाब से
  • (5) मुनकीर नकीर के प्रश्नों से
  • (6 ) कि या मत की सख्ती से
  • (7) जहन्नम के अजाब से
  • दुनिया व आखिरत की सत्तर हजार बलाओं से बचायेगा ! उसके सब छोटे-बड़े गुनाह माफ़ कर देगा ! अगरचे उसके गुनाह दरख्तों के पत्तो, बारिश की बुंदों, परीन्दों ओर जानवरों से भी ज्यादा हों ! अल्लाह तआला माफ कर देगा !उसके आमाल नामे में हजार नेकियाँ लिख दी जायेगी ! उस के बदन से सत्तर हजार (70,000 ) बलायें दूर हो जायेगी

दोस्तों अगर आपको ये इनफार्मेशन अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें और अगर आपको हमसे कोई इस्लामिक रिलेटेड सवाल पूछ न हो तो ईमेल या कमेंट करें |

Leave a Comment