Eid Ul Fitr 2020 – Namaz Ka Tarika In Hindi

0
750
eid-ul-fitr-2020-namaz-ka-tarika
eid-ul-fitr-2020

Eid Ul Fitr 2020 Namaz Ka Tarika In Hindi ईद उल फ़ित्र eid ul fitr 2020 की नमाज़ का तरीका हिंदी में

(Eid ul Fitr 2020) ki Namaz ka Tarika बतायंगे Eid Ki Namaz की  नियत कैसे करते है ये सब हम जानेंगे आज के इस पोस्ट में तो आप सब इस पोस्ट को आखिर तक जरूर पढियेगा

Eid ul Fitr 2020 – Namaz Ka tarika in hindi

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम

ईद अल-फ़ितर (eid ul fitr 2020) की नमाज़ ईद अल-फ़ितर के दिन फ़ज्र यानि (सबह) की नमाज़ के साथ 20 मिनट की तादाद में की जाती है  जो नॉर्मल होती है, ईद-उल-फ़ित्र की नमाज़ का वक्त लग भग 8:00 am बजे के क़रीब अदा किया जाता है|

ईद के दिन गुस्ल जुरूर करे और जितना जल्दी हो सके मस्जिद / ईद गाह में हाजिर हो जाएँ और तकबीर पढ़ते रहें|

तकबीर: “अल्लाहू अकबर, अल्लाहू अकबर, अल्लाहू अकबर। ला इलाहा इल्लल्लाह वाल-लाहु अकबर, अल्लाहु अकबर वलील-लही लम-अलमद

सब से पेहला नियत करे।

मै नियत करता हूँ 2 रकात नमाज वाजिब ईद उल फितर की जाहिद 6 तकबीरो के के साथ वास्ते अल्लाह तआला के पीछे इस इमाम के” मुंह मेरा काबा शरीफ के तरफ अल्लाहु अकबर

Eid ul fitr 2020 ki Namaz Padhne Ka Tarika In Hindi

और फिर अल्लाहुअक्बर तकबीर के साथ दोनों हाथों को कानो तक उठाकर नाफ के नीचे अपने हथेलियों को बाँध लें

फिर आप सना पढ़ें जब इमाम शाहब पहली मर्तबा कहे

अल्लाहु अकबर कहे

तो फिर से अपने दोनों हाथों को उठा कर अपने कानो की लोह तक ले जाएँ उसके बाद छोड़ दें |

एक बार फिर से जब इमाम शाहब दूसरी मर्तबा

अल्लाहु अकबर कहे

तो फिर से अपने दोनों हाथों को उठा कर अपने कानो की लोह तक ले जाएँ उसके बाद छोड़ दें |

जब तीसरी मर्तबा इमाम शाहब अल्लाहु अकबर कहे तो

अल्लाहु अकबर

तो फिर से अपने दोनों हाथों को उठा कर अपने कानो की लोह तक ले जाएँ और इस बार अपने हाथो को नाभ के पास बाँध लें

उसके बाद इमाम साहब सूरह फातिहा पढ़ेंगे उसके बाद कोई और कुरआन शरीफ की सूरह पढ़ेंगे |

उसके बाद इमाम शाहब के पीछे रुके करे उसके बाद सजदा करें |

उकेस बाद फिर दूसरे रकअत के लिए खड़े हो जाएँ |

उसके बाद इमाम शाहब सूरह फातिहा पढ़ेंगे उसके बाद कुरआन शरीफ की कोई और सूरह पढ़ेंगे |

इसके बाद जब इमाम शाहब कहे

अल्लाहु अकबर

तो फिर से अपने दोनों हाथों को उठा कर अपने कानो की लोह तक ले जाएँ उसके बाद छोड़ दें |

एक बार फिर से जब इमाम शाहब दूसरी मर्तबा कहे

अल्लाहु अकबर

तो फिर से अपने दोनों हाथों को उठा कर अपने कानो की लोह तक ले जाएँ उसके बाद छोड़ दें |

एक बार फिर से जब इमाम शाहब तीसरी मर्तबा कहे

अल्लाहु अकबर

तो फिर से अपने दोनों हाथों को उठा कर अपने कानो की लोह तक ले जाएँ उसके बाद छोड़ दें |

एक बार फिर से जब इमाम शाहब  कहे |

तो आप रुके के लिए चलें जाएँ इसी तरह फिर रुके बाद सजदा करें |

Khutba Sunna Bhi Wazib Hai

इसी तरह फिर आप आम नमाज़ों की तरह नमाज़ अदा करें |

बादे नमाज़ खुत्बा को भी ध्यान से सुने खुत्बा सुन्ना भी वाजिब है |

Must Read:-

दोस्तों कैसी लगी आपको ये इस्लामिक इनफार्मेशन अगर अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना न भूलें अल्लाह तआला हर मोमिन की हिफाजत फरमा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here