Home Islamic Dua Qabar Par Mitti Dene Ki Dua In Hindi | कब्र पर मिटटी...

Qabar Par Mitti Dene Ki Dua In Hindi | कब्र पर मिटटी देने की दुआ हिंदी में

0
4537

Qabar Par Mitti Dene Ki Dua In Hindi Qabar Par Mitti Dene Ki Dua क़ब्र पर मिटटी देनी की दुआ हिंदी Language में, अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु नाजरीन हम सबको पता है की एक दिन हमें दुनिया से रुखसत करना है तो क्यू न हम उसकी तैयारी पहले से कर लें इस्लाम में बहुत सी ऐसी बातें है जो हर मुसलमान को जानना और समझना चाइये तो आज हम इन्तेकाल के बाद मिटटी देने की दुआ के बारे में बताएँगे जो हर इस्लाम धर्म के लोग को याद होना चाहिए| इसके अलावा आप यहाँ Maa Baap ke huqooq को भी पढ़ सकते है|

Qabar Par mitti dene ki dua

Qabar Par Mitti Dene Ki Dua

बिस्मिल्ला-हिर्रहमा-निर्रहीम

किसी भी मैयत में आप जाए सिरकत करें तो सबसे पहले आप कबरिस्तान के अंदर दाखिल होने से पहले अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु जरूर करें किसी भी जनाजे में मिटटी देना का इस्लामिक तरीका ये है की एक आदमी या एक इंसान को तीन 3 बार मिटटी देना है कब्र पर मिटटी डालते वक़्त समय मुस्तहक़ यह है की जनाजे के सर के तरफ सुरु Start करें और अपने दोनों हाथो में मिटटी भर के कब्र पर डालें|

क़ब्र पर मिटटी डालने के लिए सबसे पहले आपको पाको साफ़ होना चाहिए आपके कपडे साफ़ होने चाहिए और आपको बा वजू होना चाहिए तभी आप किसी जनाजे में सिरकत कर सकते है और मिटटी दे सकते है कबिर्स्तान में बात चीत सोरो गुल जरा भी न करें और हो सके तो कब्र में पहले से जितने भी मद्फूं है उन पर दरूदो सलाम पढ़ें|

February Current Affairs PDF Download 2020

हमने यहाँ आपके सहूलियत के लिए क़ब्र पर मिटटी देने की दुआ को हिंदी और उर्दू दोनों language में दे दिया जिससे की आप हजरात को किसी भी तरह का कोई दिक्कत या परिशानी का सामना न करना पड़े निचे इस दुआ के तर्जुमे को भी ब्यान किया गया है जिसे आप जरूर पढ़े और समझे|

क़ब्र पर मिटटी देने की दुआ

मिन्हा ख लकनाकुम वफी हा नुईदुकुम वामिन्हा नुखरिजुकुम ता-र-तनु उखरा

Qabar par Mitti dene ki dua

 

पहली मर्तबा मिटटी डालते वक़्त

मिन्हा ख लकनाकुम

तर्जुमा: इसी मिटटी से हमने तुमको पैदा किया

दूसरी मर्तबा मिटटी डालते वक़्त

वफी हा नुईदुकुम

तर्जुमा: और इसी मिटटी में हम तुमको लौटाएंगे

और तीसरा और आखिरी मर्तबा मिटटी डालते वक़्त

वामिन्हा नुखरिजुकुम ता-र-तनु उखरा

तर्जुमा:और इसी से क़यामत के दिन तम्हे दुबारा निकाल कर खड़ा करेंगे

Must Read:-

  1. DUA E NOOR IN HINDI | दुआ ए नूर हिंदी लेटर में
  2. Qayamat Ki Nishaniyan in Hindi | क़यामत की 7 निशानियां हिंदी में

  3. Surah Juma In Hindi | सूरह जुमा हिंदी तर्जुमे के साथ में

  4. Jumma Ki Namaz Ka Tarika in Hindi

  5. Ghusl ka tarika in Hindi | नहाने का इस्लामिक तरीका हिंदी में

  6. Safar Ki Dua in Hindi & Urdu तर्जुमा के साथ

  7. Fatiha ka tarika in Hindi यहाँ से सीखें

    दोस्तों इस important दुआ को अपने करीबियों को जरूर शेयर करें ताकि ये दुआ उन्हें भी याद हो जाये अल्लाह हमें और आपको हिफाजत फरमाए अमीन (खुदा हाफ़िज़)

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here