Ghusl ka tarika in Hindi | ग़ुस्ल करने का इस्लामिक तरीका हिंदी में

Ghusl ka tarika हिंदी में : अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु मेरे प्यारे भाइयों और बहनों आज के इस पोस्ट में हम आपलोगों को Ghusl ka tarika in Hindi यानि के इस्लामिक तरीके से नहाना (ghusal) करना आपको पता है की हम इस्लाम जैसे पाकीजा मजहब से ता आलूक रखते है तो हमें इस्लाम के बताये रास्ते पर ही चलना चाहिए| सफर में पढ़े जाने वाले दुआ को भी जरूर याद करें Safar ki dua in hindi and urdu Click Here

ghusl ka tarika

 

Ghusl ka tarika हिंदी में

तो चलिए दोस्तों अब हम इस्लामिक तरीके से ग़ुस्ल यानि नहाते कैसे है इसके बारे में जानते है और उसके अपनाते है

बिस्मिल्लाह हिरहमा निर्रहीम

1.पहला – सबसे पहले नियत करना इसका मतलब यह की अपने दिल में इरादा करना की हम निजासत से पाक होने      अल्लाह तआला की रजा और सवाब के लिए नहाते है न की अपने बदन को साफ़ करने के लिए|

2. दूसरा – फिर अपने हांथो के गट्टों को तीन – तीन बार अच्छे से धोना और गरारह करें यानि के कुल्ला करें

3. तीसरा – इस्तिन्जे की जगह को अच्छे से धोएं चाहे फिर निसाजत लगी हो या नहीं

4. चौथा – बदन पर लगे निसाजत को अच्छे से साफ़ करना धोना आपके बदन पर जहाँ भी निसाजत लगा हो उसके                   अच्छे से दूर करे|

5. पांचवा – वुजू करना करें आप जैसे नमाज़ पढ़ने से पहले वजू करते है वैसे ही वजू करे लेकिन अपने पाओ को ना धुलें                हाँ अगर आप किसी ऊँचे चीज पर बैठ कर गुशल यानि नहा रहें है तो आप अपने पाओ को भी धूल सकते है|

ghusl ka tarika

 

इस्लामिक तरीके से ग़ुस्ल करना सीखें

6. छठा –  उसके बाद पुरे बदन Body पर पानी को मलना यानि के हम अपने बदन पर जैसे तेल Oil को मलें उसी                   तरह पानी से भी मलें ख़ास कर सर्दियों के महीने में ऐसा जरूर करें|

7. सातवां – फिर आप तीन बार अपने दाहिने कंधे पर बानी डाले बहाएं|

8. आठवां – फिर आप तीन बार अपने बाएं कंधे पर पानी डाले बहाएं|

9. नौवां – फिर आप सर और पुरे बदन पर तीन बार पानी बहाएं यानि के डालें|

10. दसवां – पाओं को धोएं अगर अपने वजू बनाते वक़्त अपने पाओं को नहीं धुले थे तो थोड़ा सा पीछे हट कर अपने                    पाओं को धूल लें अच्छे से|

11. फिर आप अपने बदन को साबुन से मलें या साबुन नहीं है तो अच्छे से हांथो से मल्ल लें|

ऊपर दिए गए ग़ुस्ल के तरीके से अगर आप नहाते है तो आपको मुकम्मल तरीके से पाकी हासिल हो जाती है अगर ग़ुस्ल में कुछ और मुस्तहब अमल किये जाएँ तो इसके स्वाब में और इजाफा किया जा सकता है ग़ुस्ल में कुछ मुस्तहब अमल इस तरह हैः-

ग़ुस्ल के मुस्तहिबात

  • जुबान से नियत को करना|
  • नहाते वक़्त क़िब्ले की तरफ रुख ना करना जब की आप कपडे पहने ना हों|
  • ऐसी जगह ग़ुस्ल करना की किसी की भी नजर आप पर ना पड़े|
  • मर्द खुली जगह पर जबभी नहाएं तो नाभ से घुटने तक तक जिस्म लुंगी या फिर कोई कपडा बांध कर ही नहाएं|
  • और औरतें (ledies) को खुले जगह पर नहाना सख्त मना है|
  • ग़ुस्ल करते वक़्त किसी से बात ना करें और नाही कोई दुआ पढ़ें|
  • नहाने के बाद अपने बदन को तौलिया या फिर रुमाल से पोंछे|
  • सारे बदन पर टर्बिट से पानी को बहाना|

इसे भी जरूर पढ़ें

 

  1. Fatiha ka tarika in Hindi यहाँ से सीखें
  2. Dua E Qunoot In Hindi

  3. Ayatul Kursi In Hindi | तर्जुमा के साथ आयतल कुर्सी हिंदी में

  4. Namaz ka Tarika – Namaz ka Tarika हिंदी में

दोस्तों कैसी लगी आपको Ghusl ka tarika हमें उम्मीद है की आपको अच्छा लगा होगा अगर यह post आपको  अच्छा लगे तो इसे Share करना बिलकुल भी ना भूलें और अगर आपलोगो को हमसे कोई सवाल या फिर कोई शिकायत हो तो आप हमें Comment के जरिये से पूछ या बता सकते है| (खुदा हाफ़िज़)

2 thoughts on “Ghusl ka tarika in Hindi | ग़ुस्ल करने का इस्लामिक तरीका हिंदी में”

  1. As salam walekum wa Rahutulahi waa Barkatu Bhai

    Mai gussal ki dua

    Navetan Ast salle min gussale lihaste batte rafail hadis

    ye padh kar nahata hu

    aur survat apane pairo se karata hu
    oh bhi baitkar nahata hu uske baad 3 martaba kulli karata hu aur gussl pura hota hai.

    Kya mai sahi tarike se gussal karata hu ya galat mujhe Aaga kijiye.
    Jazak Allah khair.

    Reply
    • walaikum assalam agar ap bismillah hirrahma nirrahim padh kar bhi ghusl kar rahe hai to apka ghusl ho jayega bs ap ghusl ke sunnat tariko se ghusl karen allah haafiz

      Reply

Leave a Comment