Surah Duha in hindi translation | सूरह अल दुहा की फ़ज़ीलत

अस्सलामु अलैकुम नाजरीन आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे Surah duha हिंदी में और उसकी तर्जुमा surah al duha in hindi और अरबी में इस सूरह की फ़ज़ीलत और खुसियत को जाने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें|

Surah duha
Surah duha

सूरह जुहा इन हिंदी तर्जुमा – Surah duha ki fazilat in hindi

بِسْمِ اللهِ الرَّحْمٰنِ الرَّحِيْمِ

وَالضُّحٰى وَالَّيْلِ اِذَاسَجٰى مَاوَدَّعَكَ رَبُّكَ وَمَاقَلٰى
وَلَلْاٰخِرَةُ خَيْرٌلَّكَ مِنَ الْاُوْلٰى وَلَسَوْفَ يُعْطِيْكَ رَبُّكَ
فَتَرْضٰى اَلَمْ يَجِكَ يَتِمًا فَاٰوٰ وَوَجَدَكَ ضَآلًّا فَهَدٰضٰى
وَوَجَدَكَ عَآىِلًا فَاَغْنٰى فَاَمَّا الْيَتِيْمَ فَلَا تَقْهَرْ وَاَمَّا السَّآىِلَ
فَلَاتَنْهَرْ وَاَمَّابِنِعْمَةِ رَبِّك فَحَدِّث

Surah al duha in english

bismilla hirrahma nirrahim

Waaldduha Waallayli itha saja Ma waddaAAaka rabbuka wama qala Walalakhiratu khayrun laka mina aloola Walasawfa yuAAteeka rabbuka fatarda Alam yajidka yateeman faawa Wawajadaka dallan fahada Wawajadaka AAailan faaghna Faamma alyateema fala taqhar Waamma alssaila fala tanhar Waamma biniAAmati rabbika fahaddith”

Surah al duha in hindi

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहमा

वज्जुहा वल्लाइले इजा सजा मा वद्द – अ – क रब्बू – क
वमा कला व – लल आखि – रतु खैरुल्ल – क मि – नल उला
व – लसौ – फ युअति – क रब्ब – क फतरजा अ – लम यज़ीदका
यती – मन फआवा व – व – ज – द – क जललन फ – हदा
व – व – ज – द – क आई – लन फ – अग्ना फ – अम्मल यती – म
फला तक – हर व – अम्मस्साइ – ल फला तन – हर व – अम्मा
बिनिअ – मति रब्बि – क फ – हद्दीस

सूरह जुहा इन हिंदी तर्जुमा (surah al duha) surah no193

tarjuma:- आफताब की रौशनी की कसम और रात की तारीखी की जब छा जाए अये मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसललम तुम्हारे परवरदिगार ने ना तो तुमको छोड़ा है और ना तुमसे नाराज़ है और आखरत तुम्हारे लिए पहली हालत यानी दुनिया से कही बेहतर है और तुम्हे परवरदिगार अनक़रीब व कुछ अता फरमाएंगे जिससे आप खुस हो जायेंगे

भला उसने तुम्हे यतीम पाकर जगह नहीं दी बेशक दी और रस्ते से नावाकिफ देखा तो सीधा रास्ता दिखाया और तंग दसत पाया तो गनी कर दिया तो तुम भी कभी यतीम पर कभी सितम ना करना और मांगने वालो को झड़की ना देना और अपने परवरदिगार की नेमतों का हमेशा बयान करना |

सूरह अल दुहा की फ़ज़ीलत हिंदी में (Surah al duha)

अगर कोई शख्स कहीं गुम हो गया है ओ घर नहीं आ पा रहा है या किसी गुस्से से भाग गया है नहीं आ पा रहा है और उसे आप बुलाना चाहते है तो आप वजू करने के बाद आप इस दुआ को 2 हजार बार पढेंगें तो इंशाअल्लाह तआला वापस आ जायेगा |

या अगर आप रात के वक्त दर जाते है या सोने के बाद आप अगर डरौना (ख्वाब) सपना देख रहे है तो आप इस दुआ को सात मर्तबा पढ़ लेंगें तो आपका सारा परिसानी ख़तम हो जायेगा और साथ ही खाब भी नहीं आएगा इंशाअल्लाह अगर आप सूरह समस या सूरह वललेल पढ़ते है

तो आपका रंज व गम ख़तम हो जायेगा आप किसी तरह से परीशान है आपका कारोबार नहीं चल रहा है या और भी कोई चीज से परीशान है तो इंशाअल्लाह सब सही हो जायेगा इस दुआ को रोजाना तीन मर्तबा बढ़ते है तो आपके रोजी में बरकत होगा |

नाजरीन हमने इस (सूरह दुहा) का वीडियो भी लगा दिए है इसे भी जरूर देखें

you also read this link

नाज़रीन अगर आपको ये इनफार्मेशन अच्छा लगा हो तो सदका ए जारिया की नियत से ज्यादा से ज्यादा शेयर करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here