Khana khane ki dua | khana khane ke baad ki dua in hindi

Khana khane ki dua

Khana khane ki dua hindi aur arabic mein

बिस्मिल्ला हिर्रहमा निर्रहीम

अस्सलामो अलैकुम नाजरीन आज हम इस पोस्ट में बात करेंगे Khana khane ki dua के बारे में जो हर मुस्लमान को खाना खाने से पहले दुआ पढ़े और अल्लाह तआला का सुक्रिया अदा करें और साथ ही khana khane ke baad ki dua के बारे मे बात करेंगे इस की फजीलत के बारे में भी बात करेंगे इस पोस्ट को लास्ट तक जरूर पढ़े और अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें |

दस्तरख्वान पर मिल कर खाने में बरकत है

हजरत अब्दुल्लाह इब्ने उम्र रजि अल्लाहो तआला अन्हो से रिवायत करते है की सरकार मदीना सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम फरमाने आलिशान है की इकट्ठे हो कर खाओ साथ मिलकर खाओ अलग अलग न खाओ जमाअत के साथ खाने में बहुत बरकत है |

अगर आप एक ही दस्तरख्वान पर मिलकर खाने वालों को मुबारक हो की ताजदारे मदीने सल्लाहु अलैहि वसल्लम ने इरशाद फरमाया अल्लाह को ये बात सब से जयादा पसंद है की वो अपने किसी मोमिन बन्दे को बीवी और बच्चे के साथ दस्तरख्वान पर बैठ देखे और सब खाते हो क्यूंकि जब सब दस्तरख्वान पर जमा होते है तो अल्लाह उन को रहमत की निगाह से देखता है और क़ब्ल अज जुदा होने के उन को बख्श देता है |

(khana khane ki dua) खाने से पहले बिस्मिल्लाह जरूर पढ़े

जो भी साहिबे शान काम शुरू किया जाए उस के क़ब्ल बिस्मिल्लाह शरीफ जरूर पढ़नी चाहिए इस तरह खाने या पिने से क़ब्ल भी बिस्मिल्लाह पढ़ना सुन्नत है हजरते सय्यदना हुजैफा सल्लाहु अलैहि वसल्लम से रिवायत करते है के की ताजदारे मदीना सल्लाहु अलैहि वसल्लम का फरमान आलीशान है की जिस खाने पर बिस्मिल्लाह न पढ़ी जाए शैतान के लिए वो खाना हलाल हो जाता है

हजरत सय्यदना अबू अयूब अंसारी फरमाते है के हम सरकारे मदीना की खिदमते बरकत में हाजिर थे खाना पेश किया गया इब्तदा में इतनी बरकत हम ने किसी किसी खाने में नहीं देखि मगर आखिर में बड़ी बरकाती देखि हम ने अर्ज की या रसूलल्लाह ऐसा क्यों हुआ इरशाद फ़रमाया हम सब ने खाना खाते वक्त बिस्मिल्लाह फिर एक शख्स बगैर बिस्मिल्लाह पढ़े खाने को बैठ गया उस के साथ शैतान ने खाना खा लिया |

Khana khane ki Dua arbic me 

بِسْمِ اللهِ وَعَلَى بَرَكَةِ اللهِ

hindi mein

*बिस्मिल्लाहे व आला बरकतिल्लाह*

तर्जुमा :-  मैं अल्लाह के नाम से खाता हूँ और अल्लाह की बरकत पर

khana khane ke Baad ki Dua arbic men

اَلْحَمْدُ لِلّٰهِ الَّذِىْ اَطْحَمَنَا وَسَقَانَاوَجَحَلَنَامُسْلِمِيْنَ

Hindi main

*अल्हम्दो लिल्लहिल्लज़ी अत आमना वसाकाना वज अलाना मुस्लेमीन*

तर्जुमा :- तमाम तारीफे उस अल्ला ही के लिए की जिसने हमें खिलाया और जिसने हमें पिलाया और हमें मुस्लमान बनाया

नाजरीन अगर आपको ये इस्लामिक इन्फोर्मेसन अच्छा लगा हो तो इसे दुसरो को शेयर जरूर करें ताकि ये इस्लामिक इनफार्मेशन दुसरो को भी पता चल सके अल्लाह तआला हर मोमिन की हिफाज़त फरमाए आमीन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here