Home Hadees Quraan Majid Padhne Ki Fazilat | क़ुरआन शरीफ पढ़ने की फ़ज़ीलत

Quraan Majid Padhne Ki Fazilat | क़ुरआन शरीफ पढ़ने की फ़ज़ीलत

0
539

Quraan Majid Padhne Ki Fazilat क़ुरआन शरीफ पढ़ने की फ़ज़ीलत Quraan Sharif Padhne Ki Fazilat in Hindi : अस्सलामु अलैकुम वरहमतुल्लाह वबरकाताहु नाजरीन आज हम आपको बताएँगे की रोजाना घर में कीरान मजीद पढ़ने से क्या होता है और उसके फ़ज़ीलत किया है इन सब बातो को जानेंगे और इस पर इन्शाह अल्लाह अमल भी करेंगे हमारी हर मोमिन और मोमिना से दरखास्त है गुजारिश है की आप हर रोज अपने घरो में क़ुरआन मजीद की तिलावत करें और दुसरो से भी करवाएं इससे आपके घरों में इन्शाह अल्लाह बरकत व किसी तरह की परिशानी से निजात बना रहेगा ऐसे और इस्लामिक जानकारी के लिए हमेशा GOOGLE पर Duanamz.com को सर्च करें|

quraan Padhne ki fazilat

 

Quraan Padhne Ki Fazilat

बिस्मिल्लाह हिर्रहमा निर्रहीम

(1) रोजाना क़ुरआन करीम पढ़ने की फ़ज़ीलत क्या है हदीस शरीफ में आया है की नबी करीम (S.A.W) ने फ़रमाया है की रोज क़ुरआन पढ़ा करो वो इस लिए की यही क़ुरआन क़यामत के दिन क़ुरआन की तिलावत करने वालों की शफ़ाअत करने के लिए आएगा |

(2) हदीस क़ुदसी में आया है की अल्लाह तआला फरमाते है जिस शख्स को कुरआन करीम की तिलावत करने याद करने गौर फ़िक्र करने और तर्जुमा तकसीर वगैरह करने की मशगुलियत और मसरूफियत ने मेरा जिक्र करने और मुझसे दुआएं मांगने से रोक दिया यानि जिक्र और दुआ मांगने की फुर्सत न मिली तो मई उस शख्स को उससे बढ़कर देता हूँ जो मई दुआएं और जरुरत मंदो को मांगने वालो को देता हूँ यानी के उनकी साड़ी दुआएं जरूरतों और मुरादों को पूरा कर देता हूँ |

और हमारे नबी करीम (S.A.W) ने फ़रमाया अल्लाह के कलाम को और तमाम कलामों पर ऐसे ही फ़ज़ीलत और बड़ाई हासिल है जैसी खुद अल्लाह तआला को अपने तमाम मख़लूक़ात पर है |

SSC MTS Salary Job Work All Post Details

(3) एक और हदीस में आया है की नबी करीम SAW ने फ़रमाया है की क़ुरआन सीखो और सिखाओ और उसको पढ़ो और पढ़ाओ वो इस लिए की क़ुरआन की मिशाल उस शख्स के बारे में है की जिसने क़ुरआन सीखा और उसका ज्ञान हासिल किया फिर उसको पढ़ा और दुसरो को भी पढ़ाया और उस पर अमल भी किया और ख़ास कर तहज्जुद के नमाज़ में पढ़ा ऐसे है जैसे मुश्क से भरी हुई एक मुंह खुली थैली जिसकी महक हर जगह पहुँचती है |

Quraan padhne ki fazilat

 

क़ुरआन पढ़ने का सवाब

और उस शख्स के हक़ में जो कुरआन को सीखता तो है और उसको क़ुरआन का ज्ञान भी हासिल करता है मगर रात को को गाफिल पड़ा सोता रहता है न वो तहज्जुद में नमाज़ पढता है और न उस पर अमल करता है हालाँकि उसके दिल में कुरआन मौजूद है और सही सलामत है ठीक वैसे ही जैसे एक मुश्क से भरी थैली जिसका मुंह कस कर बाँध दिया गया हो|

Must Read:-

1. Ramadan Ki Fazilat In Hindi | रमज़ान की फ़ज़ीलत इन हिंदी

3. Dua For Coronavirus in Hindi | कोरोना वाइरस से महफूज़ रहने की दुआ हिंदी

4. Surah (Bayyinah) Lam Yakun Tarjuma Hindi | | सूरह लम यकून तर्जुमा के साथ

5. Qabr Ke Azab Se Bachne Ke Tareeqe

6. Azan Ke Baad Ki Dua In Hindi | अजान के बाद की दुआ हिंदी…

7. Dua E Qunoot In Hindi

8. Ayatul Kursi In Hindi | तर्जुमा के साथ आयतल कुर्सी हिंदी में

हजरात अगर आपको ये Information अच्छा लगे तो इसे शेयर जरूर करें और सवाबे दारैन भागी दारी बने अल्लाह तआला हर मोमिन की हिफ़ात फरमा

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here